May 19, 2024

रायगढ़ पेपर मिल हादसा : 3 मजदूर इलाज के लिए रायपुर रेफर, गैस रिसाव के पीड़ितों ने सुनाई आपबीती

रायगढ़ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर रायगढ़ कलेक्टर यशवंत कुमार गुरुवार को पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह के साथ रायगढ़ जिले के तेतला स्थित शक्ति पेपर मिल में हानिकारक गैस के संपर्क में आकर बीमार हुए मजदूरों से मिलने संजीवनी अस्पताल पहुंचे। वहां उन्होंने चिकित्सकों से भर्ती मजदूरों का हाल जाना। कलेक्टर यशवंत कुमार द्वारा मजदूरों के परिजनों व अस्पताल प्रबंधन से चर्चा कर तीनों ही पीड़ितों को रायपुर अस्पताल के लिए रवाना किया गया है।  


रायगढ़ के तेतला स्थित  पेपर मिल में गैस रिसाव होने से 7 मजदूर बीमार हैं। जनरपट ने जब मजदूरों से बात की तो उन्होंने बताया कि वे काम के दौरान गैस लीक होने से एक-एक कर गड्ढे में गिर गए। जिसकी वजह से उन्हें चोटें भी आई हैं।  मजदूरों को मिल संचालक ने रायगढ़ के संजीवनी अस्पताल में भर्ती कराया था।  3 मजदूरों की हालत बिगड़ने पर मामले का खुलासा हुआ है।  गंभीर रूप से घायल तीनों ही मजदूरों को रायपुर रेफर कर दिया गया।   


हादसे में घायल मजदूर ने बताया कि, मिल में नोटबुक बनाई जाती है।  पिछले कुछ दिनों से प्लांट बंद था और कर्मचारी उसकी सफाई करने के लिए गए थे।  इस दौरान सभी कर्मचारी गढ्ढे में एक-एक कर गिर पड़े।  इसके बाद उनकी आंखों के सामने अंधेरा छा गया।  मजदूरों ने बताया कि होश आने पर वो अस्पताल में थे।  बता दें कि ये मिल दीपक गुप्ता नाम के व्यक्ति की है।  मिल मालिक ने अपनी गलती मानते हुए सभी के इलाज की जिम्मेदारी लेने की बात कही है।   

कलेक्टर यशवंत कुमार ने मिल संचालक को स्पष्ट निर्देश दिया है कि व्यक्तिगत रूप से घायलों के साथ रायपुर जाकर उनका पूरा इलाज कराये। साथ ही रेड क्रॉस और प्रशासन की ओर से एक पटवारी को भी रेफेर किये मजदूरों के साथ रायपुर जाने के लिए निर्देशित किया। इस मौके पर कलेक्टर ने मजदूरों के परिजनों से कहा कि प्रशासन यह सुनिश्चित करेगा कि घायलों का अच्छे से इलाज हो। 

मिली जानकारी अनुसार पुसौर के तेतला में शक्ति पेपर मिल जिसमे पेपर को रिसायकल करने का कार्य किया जाता है। लॉक डाउन के दौरान बंद इस मिल को पुनः प्रारम्भ करने से पूर्व मजदूर रिसायकल चैम्बर की सफाई कर रहे थे। इसी दौरान हानिकारक गैस के संपर्क में आने पर मजदूरों की तबियत बिगड़ने लगी। जिस पर उन्हें इलाज के लिए रायगढ़ के संजीवनी चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया। भर्ती करवाये गए कुल 07 मजदूरों में 03 मजदूरों डोलामणि सिदार उम्र 35 वर्ष, सुरेंद्र गुप्ता उम्र 28 वर्ष, अपधर मालाकार उम्र 40 वर्ष को बेहतर इलाज के लिए रायपुर रेफेर किया जा रहा है। जिसके लिए प्रशासन द्वारा एम्बुलेंस तथा अन्य व्यवस्थाएं करवायी जा रही है। शेष 04 मजदूर पुरन्धन कुमार उम्र 21 वर्ष, अनिल कुमार उम्र 22 वर्ष, निमाणी भोय उम्र 40 वर्ष, रंजीत सिंग उम्र 34 वर्ष का इलाज संजीवनी में ही जारी रहेगा। जिसके लिए संजीवनी अस्पताल प्रशासन को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं।

मुख्य खबरे

error: Content is protected !!
Exit mobile version